नए साल पर कविता 2024 | New Year Poem in Hindi (कक्षा-3 से कक्षा- 8 तक) 

Happy New Year 2024 : नया साल आने में केवल कुछ दिन ही बाकि हैं। ऐसे में हर एक व्यक्ति नए साल का इंतजार काफी बेसब्री और उत्साह के साथ कर रहा हैं। हर एक व्यक्ति का विश्वास है कि नया साल उसके जीवन में खुशियां और समृद्धि लेकर आएगा। नए साल के अवसर पर सभी लोग एक दूसरे को नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं। इसके अलावा घरों में या कई विशेष जगह पर न्यू ईयर पार्टी (New Year Party) आयोजित की जाती हैं। जहां  हम अपने मित्रों और करीब लोगों को आमंत्रित करते हैं। ताकि उनके साथ मिलकर नया साल धूमधाम से मनाया जा सकें। यदि आप एक छात्र हैं और नए साल के ऊपर एक बेहतरीन कविता लिखना चाहते हैं लेकिन आप न्यू ईयर पर कविता (New Year Par Kavita) कैसे लिखेंगे उससे संबंधित जानकारी अगर आपके पास नहीं है तो आज के लेख New Year Poem in Hindi से जुड़ी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे आर्टिकल पर बने रहिएगा चलिए जानते हैं-:

New Year Poetry 2024

नए साल  पर यदि आप (New Year Poetry 2024) लिखना चाहते हैं उसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आए जानते हैं:-

नया साल 2024 का आगाज हो रहा है

और हम सब उत्साह से भरे हैं

कुछ नए लक्ष्य, कुछ नए सपने

कुछ नए रिश्ते, कुछ नए अनुभव

हमने पुराने साल को विदा किया

उसके साथ ही अपने कुछ गम भी

हमने सीखा, हमने मुस्कुराया

हमने प्यार किया, हमने जिया

नया साल हमें नई उम्मीदें देता है

नए मौके, नए चुनौतियां

हमें अपनी क्षमता का परिचय कराता है

हमें अपनी मंजिल की ओर ले जाता है

हमें नया साल मुबारक हो

हमें नया साल मुस्कुराता हो

हमें नया साल प्यार करता हो

हमें नया साल संस्कार सिखलाता हो

पुराने को गाने की धुन के साथ छोड़ना;

सही को याद रखना और गलत को माफ करना;

उन चीज़ों को भूल जाना जो आपको तेजी से बांधती हैं,

पिछले वर्ष के व्यर्थ पछतावे के लिए; बूढ़े हो चुके दिनों की व्यर्थता कोअपने कब्जे से मुक्त करने की शक्ति प्राप्त करना ; एक सच्चे उद्देश्य के साथ आगे बढ़ने का साहस करना, वर्ष के उस अज्ञात कार्य के लिए जो नया है; मार्ग में अपने भाई की सहायता करना, उसका काम करना, और उसका बोझ उठाना; दुनिया की ख़ुशी में अपना उपहार जोड़ना, नव वर्ष की शुभकामना देना है। नए साल की शुभकामनाएँ..!!

Also Read: नए साल में अपने दोस्तों को भेजें ये लेटेस्ट कोट्स हिंदी में

Poems For the New Year 2024

नए साल पर यदि अपने दोस्तों और परिवार वालों को नए साल की शुभकामनाएं कविता के माध्यम से देना चाहते हैं Poems For the New Year का कलेक्शन हम आपको नीचे उपलब्ध करवा रहे हैं:-


नई गिरती बर्फ की तरह धीरे-धीरे सुंदर और अलग होते हुए चरम पर पहुंचने लगा है,
हर दिन अनोखा और सिर्फ आपके लिए आकार दिया गया है।
जैसे-जैसे हर दिन बढ़ता है, आपका जीवन कुछ न कुछ जोड़ता रहता है।
आपके नए साल के लिए मेरी इच्छा सुंदरता
और कोमलता के साथ-साथ खुशी के लिए आश्चर्य भी है।
प्रत्येक दिन के लिए प्यार जो आपके लिए खुशियाँ लेकर आए,


आपके जीवन को चमक और चमकती धूप का दृश्य बना दे।
नए साल की शुभकामनाएँ!!

जीवन तीन खंडों में एक किताब है –
अतीत, वर्तमान और अभी होने वाला।
अतीत लिखा और दूर रखा गया है,
वर्तमान हम हर दिन लिख रहे हैं,
और तीन खंडों में से अंतिम और सर्वश्रेष्ठ
दृष्टि से बंद है – भगवान कुंजी रखता है।
नए साल की शुभकामनाएँ!

एक और साल इतना अच्छा, एक और साल ख़त्म होने वाला है,

क्या आपने योजना बनाई है कि आप इसे कहाँ बिताएंगे?

उसकी रात बहुत अच्छी होने वाली है क्योंकि यह साल का आखिरी दिन होगा इसलिए,

सब कुछ भूल जाओ और खुश रहो क्योंकि यह साल जा रहा है,

एक और सही शुरुआत की प्रतीक्षा करें जहां आप अपनी आत्मा से उसका स्वागत करेंगे! नया साल मुबारक हो!

हैप्पी, नया साल मुबारक! मैं आपको शुभकामनाएं देता हूं,

अपने सबसे पसंदीदा लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए शानदार काम करें,

और जब आपका काम पूरा हो जाए, तो मधुर विश्राम।

मैं आपकी पूर्णता, संतुष्टि, शांति और उससे भी अधिक,

उज्जवल, और अधिक नया वर्ष, जो आपने पहले कभी देखा हो, की आशा करता हूँ।”

नया साल मुबारक हो!

यह भी पढ़ें:-100+ नव वर्ष सुविचार हिंदी में

New Year Poems (नव वर्ष पर सूंदर कविता)

नए साल के अवसर पर New Year Poems कलेक्शन आप लोगों के लिए लेकर आए हैं जिसका विवरण हमने नीचे दिया है:-

अपने नए साल की शुभकामनाओं को
यथासंभव सरल बनाएं।
शांति और प्रेम के लिए प्रार्थना करें,
धन या प्रसिद्धि के लिए नहीं।

स्वास्थ्य और खुशी के लिए प्रार्थना करें.
अपने साथी के लिए प्रार्थना करें.
उन सभी के लिए प्रार्थना करें जिनसे आप प्यार करते हैं।
उन लोगों के लिए प्रार्थना करें जो रास्ता भटक गए हैं।

जैसे ही आधी रात का घंटा बजता है,
हम पुराना छोड़ देते हैं और नया अपना लेते हैं।
मैं उन चीजों की कामना करता हूं जो आप अपने लिए चाहते हैं,
और भगवान का प्यार आपके साथ रहे।

हममें से कई लोग सपने देखने वाले हैं, 2024 में कर्ता बन जाएंगे।
अपने विचार, कार्य बनायें और अनुयायी बनें।
बिना कार्ययोजना के संकल्प न लें।
सफलता का रहस्य आपके हाथ में है।

आप को नया साल मुबारक हो!
हर नया नया दिन
आपके लिए मीठे आश्चर्य लेकर आए-
एक खुशी का बुफ़े।

आपको नया साल मुबारक हो,
और जब नया साल पूरा हो जाए,
तो अगला साल और भी बेहतर हो,
खुशी, खुशी और मौज-मस्ती से भरा

Short New Year Poem 

यदि आप नए साल पर Short New Year Poem लिखना चाहते हैं तो उसका कलेक्शन हम आपको नीचे उपलब्ध करवा रहे हैं चलिए जानते हैं:- 

ए वर्ष में नई पहल हो।
कठिन ज़िंदगी और सरल हो।।
अनसुलझी जो रही पहेली।
अब शायद उसका भी हल हो।।
जो चलता है वक्त देखकर।
आगे जाकर वही सफल हो।।
नए वर्ष का उगता सूरज।
सबके लिए सुनहरा पल हो।।
समय हमारा साथ सदा दे।
कुछ ऐसी आगे हलचल हो।।
सुख के चौक पुरें हर द्वारे।
सुखमय आँगन का हर पल हो।।

आरंभ का अंत हो जाना नया साल है!
गिनती का नंबर बदल जाना नया साल है !
वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है !
उदये होते हुये सूरज का ढल जाना नया साल है !
खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है !
दे के जनम मां का आंचल ममता से भर जाना नया साल है !
एक दर्द भूल कर सुख को पेहचान जाना नया साल है !

Poetry New Year 2024 

सुनहरे सपनों की झंकार, लाया है नववर्ष
खुशियों के अनमोल उपहार लाया है नववर्ष

आपकी राहों में फूलों को बिखराकर लाया है नववर्ष
महकी हुई बहारों की ख़ुशबू लाया है नववर्ष

अपने साथ नयेपन का तूफान लाया है नववर्ष
स्नेह और आत्मीयता से आया है नववर्ष

सबके दिलों पर छाया है नववर्ष
आपको मुबारक हो दिल की गराईयों से नववर्ष।

सुनहरे पलों की झंकार,
ले कर आया नया साल।
रंग बिरंगे फूलों की खुशबू,
ले कर आया नया साल।
उमंगों का अनमोल उपहार,
ले कर आया नया साल।
उम्मीदों का नया सवेरा,
ले कर आया नया साल।

नए साल में नई पहल हो,
कठिन जिंदगी और सरल हो,
जो चलता है वक्त देख कर,
आगे जा कर वही सफल ही,
नए वर्ष का उगता सूरज,
सबके लिए सुनहरा पल हो,
समय हमारा सदा साथ दे,
आगे कुछ ऐसी हलचल हो,
अनसुलझी रह गई जो पहेली,
उसका भी अब हल हो,
नए साल में नई पहल हो,
कठिन जिंदगी और सरल हो।

Poetry New Year 2024

नए साल के अवसर पर यदि Poetry New Year 2024 अपने दोस्तों या परिवार वालों के साथ शेयर करना चाहते हैं तो उसका बेहतरीन कलेक्शन नीचे उपलब्ध करवा रहे हैं

हसे और मुस्कुराएं, नए साल में।
खुशियां मनाएं, नए साल में।
गीत गुनगुनाएं, नए साल में।
सबके दिलों में घर बनाएं, नए साल में।
भूल गए हैं हम जो हमें,
याद आएं हम नए साल में।
मिटे नहीं फासले हमारे, नए साल में।

भूल कर बीती बातों को,
एक नए मुकाम को पाना है,
नए साल में हमको,
एक नया इतिहास बनाना है,
ऊपर उठना है अब हमको,
हौसला ये बनाना है,
रुकना नहीं है अब हमको,
आगे कदम बढ़ाना है,
नए साल में हमको,
एक नया इतिहास बनाना है।

आरंभ का अंत,

हो जाना नया साल है,

उदय होते हुए सूरज का,

ढल जाना नया साल है,

खिल के फूल का,

डाल से उतर जाना नया साल है,

एक दर्द भूल कर सुख को,

पहचान जाना नया साल है।

New Year Poem in Hindi 

नया साल 2024 आने वाला है  यदि आप एक छात्र हैं और नए साल के ऊपर कविता लिखना चाहते हैं तो नीचे हम आपको New Year Poem in Hindi का विवरण नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं:- 

नए साल के नए अवसर पर
अपने मन से सारे भेदभाव मिटाएं,
रिश्तों में मिठास लाकर
थोड़े नए रिश्ते बनाएं,
दिल की कठोरता को दूर कर
कोमलता की चादर ओढाएं,
मन को चांद की भांति सुंदर बनाकर
हर जीव के प्रति दया भाव जगाएं।।

नव वर्ष का नया अवसर है
मन की उदासियों को दूर कर
खुशियों के फूल खिलाएं,
असफलताओं को छोड़ पीछे
नए लक्ष्यों को अपने मन में जगाएं,
बीत गया जो बुरा वक्त
उसे भूल कर नहीं सपनों को सजाएं,
दुआ करता हूं भगवान से
इस नए साल पर आप अपने
हर लक्ष्य को पूरा कर पाएं।

नया साल है तो

नई चीजों को करना मत भूलना,

एक बार मिलती है जिंदगी

जिंदगी को जी भर के जीना,

आती है विपदाएं तो शिव की

भांति उन्हें विष बनाकर पीना,

कदम-कदम पर

नए एहसास करायेगी यह जिंदगी

पर तुम अपनी जिंदगी को

अपने तरीकों से जीना,

रिश्तो के समुंदर में कुछ डाकू भी होंगे

पर तुम उनसे प्रेम से बतलाना,

यह जिंदगी का प्यारा सफर है

इसे हंस मुस्कुराकर काटना,

नए साल का नया जोश है तो

अपनी खुशियों को हर किसी के साथ बांटना।

हैप्पी न्यू ईयर 2024

New Year Poem 

नए वर्ष में नई पहल हो।

कठिन ज़िंदगी और सरल हो।।

अनसुलझी जो रही पहेली।

अब शायद उसका भी हल हो।।

जो चलता है वक्त देखकर।

आगे जाकर वही सफल हो।।

नए वर्ष का उगता सूरज।

सबके लिए सुनहरा पल हो।।

समय हमारा साथ सदा दे।

कुछ ऐसी आगे हलचल हो।।

सुख के चौक पुरें हर द्वारे।

सुखमय आँगन का हर पल हो। 

सुनहरे सपनों की झंकार, लाया है नववर्ष

खुशियों के अनमोल उपहार लाया है नववर्ष

आपकी राहों में फूलों को बिखराकर लाया है नववर्ष

महकी हुई बहारों की ख़ुशबू लाया है नववर्ष

अपने साथ नयेपन का तूफान लाया है नववर्ष

स्नेह और आत्मीयता से आया है नववर्ष

सबके दिलों पर छाया है नववर्ष

आपको मुबारक हो दिल की गराईयों से नववर्ष।

New Year Kavita in Hindi

नव वर्ष तुम्हारा स्वागत है,
खुशियों की बस इक चाहत है।

नया जोश, नया उल्लास,
खुशियाँ फैले, करे उजास।

नैतिकता के मूल्य गढ़ें,
अच्छी-अच्छी बातें पढें।

कोई भूखा पेट न सोए,
संपन्नता के बीज बोए।

ऐ नव वर्ष के प्रथम प्रभात,
दो सबको अच्छी सौगात।

नए साल में
प्यार लिखा है
तुम भी लिखना।

प्यार प्रकृति का शिल्प
काव्यमय ढाई आखर
प्यार सृष्टि पयार्य
सभी हम उसके चाकर।

प्यार शब्द की
मयार्दा हित
बिना मोल, मीरा-सी-बिक

आने वाला पल
गुजर जायेगा एक दिन
गुजरा हुआ पल
याद आएगा एक दिन।

क्यो गिनते रहते है हम
यूं पल छिन छिन
पानी की तरह इनका
रुक सकना नहीं मुमकिन।

ये रिश्ते, ये नाते
ये दोस्त, ये दुश्मन
क्यूँ ईजाद कर रहे है
हम ये उलझन।

क्यूँ जकड़ रखा है
जंजीरों मे खुद को
जिस्म को छोड़ के रूह भी
उड़ जाएगी एक दिन।

क्यूँ घूमते फिरते हो
यूं हैरान, परेशान
लोग मिलेंगे बिछड़ेंगे
बस याद आयेगा एक दिन।

खोल दो सारी जंजीरों को
जो उड़ने नहीं देती
खुली हवा मे तुम भी
सांस ले पाओगे एक दिन।

New Year Poem in Hindi

भूल के बीती बातों को,

एक नए मुकाम को पाना है,

नए साल में हमको एक,

नया इतिहास रचाना है।

ऊपर हमको उठना है अब,

उत्साह न ये गिर ने पाए,

छेड़ें ऐसा संगीत नया,

पूरी दुनिया ही जो गाये,

रुकना नहीं है अब हमको,

आगे कदम बढ़ाना है,

नए साल में हमको एक,

नया इतिहास रचाना हैं। 

नया साल है नई उमंग,

नई आस है जीवन में।

नई सोच है, नई तरंगे,

नई प्यास है जीवन में।

करना है कुछ नया नया अब,

नई बहार है जीवन में।

सपनों को सच करना है अब,

नई चाह है जीवन में।

करना है कुछ खुद से वादा,

आगे बढ़ना है जीवन में।

बीते पल में जो मिली निराशा,

भूलना है उसे जीवन में।

नया साल है नई उमंग,

नई आस है जीवन में।

Happy New Year Poem in Hindi

झाड़ियों के उलझाव से
बाहर निकलने की कोशिश में
बैलों के गले में बँधी घंटियाँ बोल उठीं
नया साल मुबारक हो।

बिगड़ी गाड़ी को
बड़ी देर से ठीक करने में जुटा मैकेनिक
गाड़ी के नीचे से उतान स्वरों में ही बोला
नया साल मुबारक हो।

बरसों से मंगली लड़का ढूँढ़ते-ढूँढ़ते परेशान माँ-बाप को देख
नीबू के पत्ते की नोक पर ठिठकी
जनवरी की ओस ने कहा
नया साल मुबारक हो। 

आरंभ का अंत हो जाना नया साल है।

गिनती का नंबर बदल जाना नया साल है।

वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है।

उदये होते हुये सूरज का ढल जाना नया साल है।

खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है।

दे के जनम मां का आंचल ममता से भर जाना नया साल है।

एक दर्द भूल कर सुख को पेहचान जाना नया साल 

Poem on New Year 

नव वर्ष के आगमन पर
प्रेम गीत गाएं

सहज सरल मन से
सब को गले लगाए

उंच नीच भेद भाव के
अंतर को मिटाएं

नव वर्ष के आगमन पर
प्रेम गीत गाएं

शिक्षा का उजियारा हम
घर घर पहुंचाएं

पर्यावरण की चिंता करे
पेड़ फिर लगाए

नव वर्ष के आगमन पर
प्रेम गीत गाएं

स्वच्छता अभियान को
समझें समझाएं

योग प्राणायाम कर स्वस्थ
हम हो जाएं

नव वर्ष के आगमन पर
प्रेम गीत गाएं

देश प्रेम का जज्बा सभी
जन मन में लाएं

माँ भारती के चरणों में
शीश सब झुकाएं

नव वर्ष के आगमन पर
प्रेम गीत गाएं

जैसे -तैसे गुज़रा है
पिछला साल

एक-एक दिन बीता है
अपना
बस हीरा चाटते हुए
हाथ से निबाले की
दूरियाँ
और बढ़ीं, पाटते हुए

घर से, चौराहों तक
झूलतीं हवाओं में
मिली हमें
कुछ झुलसे रिश्तों की
खाल

व्यर्थ हुई
लिपियों-भाषाओं की
नए-नए शब्दों की खोज
शहर
लाश घर में तब्दील हुए
गिद्धों का मना महाभोज

बघनखा पहनकर
स्पर्शों में
घेरता रहा हमको
शब्दों का
आक्टोपस-जाल 

नए साल पर कविता

अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा
है उल्लासित फिर जग सारा
नई डगर है नया सवेरा, खुशियों से भरा नज़ारा
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा….

ओस सुबह की है फिर चमकी, बिखरा करके छ्टा निराली
चेहरे दमके बगियाँ महकी, घर घर होली और दीवाली
फिर खिलकर फूल सतरंगे, हो प्रतिबिंबित तब सरिता में
प्रकृति को क्या खूब सँवारा…..
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा….

हो उत्साहित गोरन्वित हम, लिए सोच में वही नयापन
निकल पड़े कुछ कर पाने को, नई दिशाएँ दर्शाने को
कर पाऊँ हर सपने को सच, जो तुम थामो हाथ हमारा….
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा…!

ये नव वर्ष हमें स्वीकार नहीं

है अपना ये त्यौहार नहीं

है अपनी ये तो रीत नहीं

है अपना ये व्यवहार नहीं

धरा ठिठुरती है सर्दी से

आकाश में कोहरा गहरा है

बाग़ बाज़ारों की सरहद पर

सर्द हवा का पहरा है

सूना है प्रकृति का आँगन

कुछ रंग नहीं, उमंग नहीं

हर कोई है घर में दुबका हुआ

नव वर्ष का ये कोई ढंग नहीं

चंद मास अभी इंतज़ार करो

निज मन में तनिक विचार करो

नये साल नया कुछ हो तो सही

क्यों नक़ल में सारी अक्ल बही

उल्लास मंद है जन-मन का

आयी है अभी बहार नहीं

ये नव वर्ष हमे स्वीकार नहीं

है अपना ये त्यौहार नहीं

ये धुंध कुहासा छंटने दो

रातों का राज्य सिमटने दो

प्रकृति का रूप निखरने दो

फागुन का रंग बिखरने दो

प्रकृति दुल्हन का रूप धार

जब स्नेह–सुधा बरसायेगी

शस्य–श्यामला धरती माता

घर-घर खुशहाली लायेगी

तब चैत्र शुक्ल की प्रथम तिथि

नव वर्ष मनाया जायेगा

आर्यावर्त की पुण्य भूमि पर

जय गान सुनाया जायेगा

युक्ति–प्रमाण से स्वयंसिद्ध

नव वर्ष हमारा हो प्रसिद्ध

आर्यों की कीर्ति सदा-सदा

नव वर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा

अनमोल विरासत के धनिकों को

चाहिये कोई उधार नहीं

ये नव वर्ष हमे स्वीकार नहीं

है अपना ये त्यौहार नहीं

है अपनी ये तो रीत नहीं

है अपना ये त्यौहार नहीं।

निष्कर्ष: आशा करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल New Year Poem in Hindi आर्टिकल आपको पसंद आया होगा आर्टिकल संबंधित अगर आपका कोई भी अहम सुझाव या प्रश्न है तो आप कमेंट सेक्शन में जाकर पूछ सकते हैं उसका उत्तर हम आपको जरूर देंगे तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में..!!

Leave a Comment