यूपी भूलेख खतौनी कैसे चेक करें? जाने UP Bhulekh khatauni Check Karen 2024 – Step By Step

UP Bhulekh khatauni Check (भूलेख खतौनी) :- अगर आप लोग उत्तर प्रदेश के निवासी है तो अब आप लोगों को भूलेख खतौनी देखना काफी आसान हो गया है आप लोग यूपी भूलेख खतौनी को घर बैठे आसानी पूर्वक देख सकते हैं उत्तर प्रदेश सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा जमीन से संबंधित दस्तावेजों को ऑनलाइन के माध्यम से देखने के लिए एक ऑफिशल पोर्टल upbhulekh.gov.in का शुभारंभ किया गया है  इस पोर्टल के माध्यम से आप लोग यूपी भूलेख खतौनी को ऑनलाइन देख सकेंगे एवं डाउनलोड के साथ-साथ प्रिंटआउट भी निकाल सकेंगे यूपी भूलेख खतौनी को ऑनलाइन चेक करने के लिए आप लोगों के पास खसरा नंबर या खाता नंबर होना चाहिए । यूपी भूलेख खतौनी को ऑनलाइन देखने की कुछ प्रक्रिया उपलब्ध होती है जिसकी जानकारी में आप लोगों को इस (UP Bhulekh khatauni Check Karen 2024) आर्टिकल के माध्यम से विस्तार पूर्व प्रदान करूंगा इसलिए आप ऐसे निवेदन है कि आप लोग हमारे साथ आर्टिकल को अंत तक पढ़े:-

UP Khtoni Bhulekh 2024 – Overview:-

लेख का नाम:- उत्तर प्रदेश भूलेख – (UP Bhulekh Khotoni)
विभाग का नामभूमि अभिलेख अनुरक्षण विभाग
लाभार्थीउत्तर प्रदेश (UP) राज्य के सभी नागरिक
उद्देश्यउत्तर प्रदेश में भूमि संबंधित जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध कराना
आधिकारिक वेबसाइटup bhulekh.gov.in

यूपी भू-लेख खतौनी क्या है? UP Bhulekh Khtoni Kya Hai

उत्तर प्रदेश सरकार के राजस्व परिषद विभाग के द्वारा एक ऑफिशल पोर्टल upbhulekh.gov.in लॉन्च किया गया है जिसके द्वारा आप लोग जमीन से संबंधित दस्तावेजों को ऑनलाइन के माध्यम से घर बैठे चेक कर सकते हैं  जैसे ही आप लोग इस ऑफिशल पोर्टल पर विजिट करेंगे तो उनके सामने है जिला तहसील ग्राम पंचायत का नाम का ऑप्शन दिखाई देगा इसमें से आप लोगों को जिस जिले का भूलेख देखना है उस जिले को सेलेक्ट करें उत्तर प्रदेश के निवासियों को यूपी भूलेख को ऑनलाइन देखने के लिए खसरा नंबर या खाता नंबर उनके पास होना काफी आवश्यक है अब आप लोगों को UP Bhulekh को देखने के लिए अपने नजदीकी तहसील कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी |

UP Bhulekh खतौनी को ऑनलाइन कैसे देखें?

UP Bhulekh Khatauni Download :- उत्तर प्रदेश राज्य में  खतौनी को ऑनलाइन कैसे देखें एवं कैसे डाउनलोड करें इसकी जानकारी अगर आप लोगों पास नहीं है तो मैं आप लोगों को UP Bhulekh खतौनी ऑनलाइन कैसे देखें इसकी प्रक्रिया को निम्न रूप से बता रहा हूं जिसको आप लोग फॉलो करें:-

  • सबसे पहले आप लोगों को उत्तर प्रदेश सरकार के राजस्व परिषद के ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा
  • इसके बाद इस आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज ओपन हो जाएगा इस पेज पर आप लोगों को ‘खतौनी की नकल देखें’  यह ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इसके बाद आप लोग सामने एक नया पेज ओपन होगा इस पेज पर आप लोगों को कैप्चा कोड दर्ज करके सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा |
  • आप लोगों का अगला पेज पर अपना जिला, तहसील, गांव के ऑप्शन को सेलेक्ट करें |
  • इसके बाद आप लोग सामने खाता खतौनी चेक करने के ऑप्शन दिखाई देंगे जिसमें आप लोग अपना खसरा नंबर, खाता संख्या नंबर खातेदार के नाम के द्वारा भूलेख नकल निकाल सकते हैं |
  • ऊपर दिए गए विकल्पों में से ‘खातेदार के नाम के द्वारा खोज’ को सेलेक्ट करें इसके बाद दिखाई दे रहा है सर्च बॉक्स में नाम का पहला अच्छा टाइप करके खोजें के बटन पर क्लिक कर दे |
  • जैसे ही आप लोग नाम का पहला अक्षर टाइप करेंगे उसे अक्षर से शुरू होने वाले जितने भी नाम है उन सभी नाम के खाता धारकों का सूची ओपन हो जाएगी इस सूची में आप लोगों को अपना नाम को सर्च करके सेलेक्ट करना होगा और उदाहरण देखें बटन पर क्लिक  करना होगा |
  • जैसे ही आप लोग नाम को  सिलेक्ट करके उदाहरण देखें की ऑप्शन पर क्लिक करेंगे इसके बाद आप लोगों को कैप्चा कोड दर्ज करके Continue बटन को क्लिक करना होगा |
  • जैसे ही आपका कैप्चा कोड दर्ज हो जाएगा स्क्रीन पर भूलेख खतौनी विवरण दिखाई देगा |

Related Websites:

उत्तर प्रदेश भूलेख (UP Bhulekh) खतौनी ऑनलाइन के लाभ

उत्तर प्रदेश राज्य में भूलेख खतौनी ऑनलाइन हो जाने से किसानों को कई प्रकार के लाभ प्राप्त होती है किसानों को भूलेख खतौनी की जरूरत प्रकार के जमीन संबंधित कार्य के लिए होती है पहले किसानों को भूलेख खतौनी की जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने नजदीकी तहसील कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता था जिससे कई प्रकार की समस्या उत्पन्न होती थी उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी ऑनलाइन हो जाने से निम्नलिखित लाभ होता है:-

  • उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी ऑनलाइन हो जाने से तहसील कार्यालय में होने वाली भ्रष्टाचारी में कमी आई है क्योंकि अधिकतर लोग अब तहसील कार्यालय नहीं जाते हैं वह लोग घर बैठे ऑनलाइन अपने मोबाइल के माध्यम से उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी ऑनलाइन देख लेते हैं
  • पहले लोगों को उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी की जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने नजदीकी तहसील कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता था जिससे उनको कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता था साथ ही साथ समय की बर्बादी भी होती थी इसलिए लोग उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी की जानकारी ऑनलाइन घर बैठे चेक कर लेते हैं
  • यदि आप लोगों के पास खाता संख्या नहीं है तो खतौनी के नाम एवं पिता के नाम के द्वारा सर्च करके उत्तर प्रदेश भू-लेख पोर्टल पर भूलेख खतौनी को देख सकते हैं |

उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल में उपलब्ध कौन-कौन भू-लेख रिकॉर्ड है:-

UP Bhulekh Khatauni Online Check :- उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल में जमीन से संबंधित विवरण के साथ-साथ खाता संख्या खसरा संख्या की जानकारी उपलब्ध होती है उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल पर निम्नलिखित जानकारी उपलब्ध होती है:-

  • मलिक का नाम
  • मालिक की संख्या विवरण
  • जमीन का आकर
  • खसरा संख्या व खाता संख्या का विवरण
  • संपत्ति के बदले  किए गए लेनदेन का विवरण इतिहास
  • खाली पड़ा संपत्ति
  • दुश्मन संपत्ति विवरण
  • सार्वजनिक संपत्ति विवरण

उत्तर प्रदेश में शत्रु संपत्ति का विवरण ऑनलाइन कैसे चेक करें?

  • सबसे पहले आप लोगों को उत्तर प्रदेश के राजस्व विभाग के ऑफिसियल वेबसाइट upbhulekh.gov.in पर जाना होगा |
  • इसके बाद इसके आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर शत्रु प्रॉपर्टी के ऑप्शन पर क्लिक करें |
  • इसके बाद आप लोगों को अपना जिला तहसील को सेलेक्ट करना पड़ेगा |
  • जानकारी डालने के बाद उस क्षेत्र में मौजूद शत्रु संपत्ति का विवरण दिखाई देने लगेगा |

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों का लिस्ट जिनका आप लोग भूलेख खतौनी ऑनलाइन देख सकते हैं:-

Aligarh (अलीगढ़)Kannauj (कन्नौज)
Agra (आगरा)Jhansi (झाँसी)
Ambedkar Nagar (अम्बेडकर नगर)Kanpur Dehat (कानपुर देहात)
Auraiya (औरैया)Kanpur Nagar (कानपुर नगर)
Amroha (अमरोहा)Kheri (खेरी)
Amethi (अमेठी)Kaushambi (कौशाम्बी)
Baghpat (बागपत)Kasganj (कासगंज)
Azamgarh (आजमगढ़)Kushinagar (कुशीनगर)
Ayodhya (अयोध्या)Mahoba (महोबा)
Bahraich (बहराइच)Lucknow (लखनऊ)
Banda (बाँदा)Lalitpur (ललितपुर)
Balrampur (बलरामपुर)Maharajganj (महाराजगंज)
Ballia (बलिया)Mathura (मथुरा)
Bara Banki (बाराबंकी)Mainpuri (मैनपुरी)
Bijnor (बिजनौर)Mirzapur (मिर्ज़ापुर)
Basti (बस्ती)Meerut (मेरठ)
Bareilly (बरेली)Mau (मऊ)
Budaun (बदायूँ)Pilibhit (पीलीभीत)
Bulandshahar (बुलंदशहर)Muzaffarnagar (मुजफ्फरनगर)
Deoria (देवरिया)Moradabad (मुरादाबाद)
Chitrakoot (चित्रकूट)Rae Bareli (रायबरेली)
Chandauli (चंदौली)Prayagraj (प्रयागराज)
Etah (एटा)Pratapgarh (प्रतापगढ)
Fatehpur (फतेहपुर)Sambhal (सम्भल)
Farrukhabad (फ़र्रूख़ाबाद)Saharanpur (सहारनपुर)
Etawah (इटावा)Rampur (रामपुर)
Firozabad (फ़िरोजाबाद)Sant Kabir Nagar (संत कबीरनगर)
Gautam Buddha Nagar (गौतमबुद्ध नगर)Sant Ravidas Nagar (Bhadohi) (संत रविदास नगर)
Ghazipur (ग़ाज़ीपुर)Shamli (शामली)
Ghaziabad (गाजियाबाद)Shahjahanpur (शाहजहाँपुर)
Gonda  (गोंडा)Sonbhadra (सोनभद्र)
Hapur (हापुड़)Siddharthnagar (सिद्धार्थनगर)
Hamirpur (हमीरपुर)Sitapur (सीतापुर)
Gorakhpur (गोरखपुर)Shrawasti (श्रावस्ती)
Hardoi (हरदोई)Varanasi (वाराणसी)
Jalaun (जालौन)Unnao (उन्नाव)
Hathras (हाथरस)Sultanpur (सुल्तानपुर)
Jaunpur (जौनपुर)

निष्कर्ष:

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी ऑनलाइन कैसे चेक करें संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान की गई है जो आप लोग काफी पसंद आया होगा ऐसे में आप हमारे आर्टिकल संबंधित कोई प्रश्न आपके मन में है तो आप लोग हमारे कमेंट बॉक्स में आकर अपने प्रश्न को पूछ सकते हैं मैं आप लोग प्रश्नों का जवाब जरूर दूंगा

FAQ’s: UP Bhulekh khatauni Check Karen 2024

Q. उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी को देखने के लिए ऑफिशल वेबसाइट क्या है?

Ans.उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी को देखने के लिए ऑफिशल वेबसाइट upbhulekh.gov.in है |

Q. उत्तर प्रदेश में भूलेख खतौनी कैसे निकाल सकते हैं?

Ans.उत्तर प्रदेश में भूलेख खतौनी को निकालने के लिए उत्तर प्रदेश के भूलेख ऑफिशल वेबसाइट upbhulekh.gov.in  पर विजिट करना होगा उसके बाद आप लोगों को अपना जिला तहसील गांव का नाम को सिलेक्ट करके अपना खाता नंबर या खसरा नंबर या तो खातेदार के नाम के द्वारा खतौनी को निकाल सकते हैं |

Q. उत्तर प्रदेश भू-लेख खतौनी ऑनलाइन हो जाने से क्या लाभ होता है?

Ans.उत्तर प्रदेश भूलेख खतौनी ऑनलाइन हो जाने से हम लोगों को अपने नजदीकी तहसील कार्यालय का चक्कर लगाने से छुटकारा प्राप्त हो जाता है साथी साथ समय की बर्बादी भी होती थी | इसलिए अब यह ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध हो जाने हम लोग घर बैठे अपने खतौनी को ऑनलाइन उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल के माध्यम से देख सकते हैं |

Leave a Comment