Happy Lohri Songs: इन गानों के साथ लें लोहड़ी पर्व के मज़े

Happy Lohri Song: यह वह मौसम है जब सर्दी चरम पर होती है और रात में चमक पाने का सबसे अच्छा तरीका अपने प्रियजनों के साथ मजेदार चर्चा के बीच बड़ी आग जलाना है। लोहड़ी, प्रसिद्ध उत्तर भारतीय उत्सव, शीतकालीन संक्रांति की समाप्ति और लंबे दिनों की शुरुआत का प्रतीक है। पौष के दौरान, मकर संक्रांति से एक दिन पहले- आमतौर पर 13 जनवरी को, विशेष रूप से पंजाब के लोगों द्वारा इसका बहुत अधिक प्रदर्शन किया जाता है। यह उत्सव देश के विभिन्न हिस्सों जैसे हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और जम्मू में भी बहुत ऊर्जा के साथ मनाया जाता है।

इस साल लोहड़ी 13 जनवरी (शुक्रवार) को मनाई जाएगी। लोहड़ी उत्तर भारत में रबी फसल की कटाई का प्रतीक है और आपको आमतौर पर लोहड़ी की थाल में गजक, रेवड़ी, पॉपकॉर्न, फूले हुए चावल और तिल (तिल के बीज) से बने अन्य पारंपरिक व्यंजन मिलेंगे, जिन्हें आम तौर पर नए संग्रह से सजाया जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार, लोहड़ी शब्द की उत्पत्ति लोह शब्द से हुई मानी जाती है, जिसका तात्पर्य तवा से है जिसका उपयोग रोटी या चपाती बनाने में किया जाता है।

लोहड़ी त्यौहार हिंदी में | Lohri Festival in Hindi

लोहड़ी का उत्सव हर साल 13 जनवरी को मनाया जाता है और यह आम तौर पर देश भर में और पूरे विश्व में ‘सिख’ और ‘हिंदू’ लोगों द्वारा मनाया जाता है। उत्सव के समय बिताए गए उत्सव के दौरान, एक विशाल विशाल आग जलाई जाती है, और लोक धुनें गाई जाती हैं और ‘ढोल’ की थाप के साथ नृत्य किया जाता है। ‘भांगड़ा’ और ‘गिद्दा’ इस आयोजन में व्यक्तियों द्वारा किए जाने वाले प्रमुख जश्न मनाने वाले कदम हैं। कार्यक्रम में पसंद किए जाने वाले पारंपरिक पारखी व्यंजन सूखे फल, मूंगफली, पॉपकॉर्न और ‘सरसो दा साग’ के साथ ‘मक्की दी रोटी’ हैं।

लोहड़ी गाना | Lohri Song

सुंदर मुंदरिये हो !

तेरा कौन विचारा हो !

दुल्ला भट्टी वाला हो !

दुल्ले धी व्याही हो !

सेर शक्कर पाई हो !

कुड़ी दे जेबे पाई

कुड़ी दा लाल पटाका हो !

कुड़ी दा सालू पाटा हो !

सालू कौन समेटे हो !

चाचे चूरी कुट्टी हो !

ज़मिदारां लुट्टी हो !

ज़मींदार सदाए हो !

गिन-गिन पोले लाए हो !

इक पोला रह गया !

सिपाही फड के लै गया !

सिपाही ने मारी ईट

भावें रो भावें पिट

सानू दे दे लोहड़ी

तुहाडी बनी रवे जोड़ी !

हिंदी लोहड़ी गाना | Hindi Lohri Song

आर्टिकल का प्रकारहैप्पी लोहड़ी गाना
आर्टिकल काहैप्पी लोहड़ी गाना
साल2024
कब मनाया जाएगा13 जनवरी को
कहां मनाया जाएगापूरे भारत में विशेष तौर पर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, जम्मू काश्मीर और हिमांचल
क्यों मनाया जाता हैफसल की कटाई के अवसर पर

हैप्पी लोहड़ी गीत हिंदी में | Happy Lohri Geet Hindi

‘पा नी माई पाथी तेरा पुत्त चढेगा हाथी हाथी

उत्ते जौं तेरे पुत्त पोत्रे नौ!

नौंवां नौं वां दी कमाई तेरी झोली विच पाई

टेर नी माँ टेर नी

लाल चरखा फेर नी!

बुड्ढी साँस लैंदी

सुंदर-मुंदरिए हो, तेरा कौन बेचारा हो।

दुल्ला भट्टी वाला हो, दुल्ले ने धी ब्याही हो।

सेर शक्कर पाई-हो, कुड़ी दा लाल पटाका हो।

कुड़ी दा सालू फाटा हो, सालू कौन समेटे हो ।

चाचा चूरी कुट्टी हो, जमींदारा लुट्टी हो ।

जमींदार सुधाए-हो,

बड़े पोले आए हो। इक पोला रह गया हो, सिपाही फड़ के लै गया हो।

सिपाही ने मारी ईंट, भावें रो भावें पिट |

सानं दे दो लोहड़ी, जीवे तेरी जोड़ी।

साडे पैरां हेठ रोड़, सानूं छेती-छेती तोर।

साडे पैरां हेठ दहीं, असीं मिलना वी नईं।

साडे पैरां हेठ परात, सानूं उत्तों पै गई रात।

दे माई लोहड़ी, जीवे तेरी जोड़ी।

Also Read: लोहड़ी कब और क्यों मनाया जाता है यह पर्व?

हिंदी लोहड़ी गाना | Hindi Lohri Song

सुंदर मुंदरिए हो, तेरा कौन विचारा हो, प्रसिद्द पंजाबी लोहड़ी गीत

सुंदर मुंदरिए हो, तेरा कौन विचारा हो, दुल्ला भट्टी वाला हो, दुल्ले ने धी ब्याही हो, सेर शक्कर पाई हो, को प्रसिद्द पंजाबी गायिका मीत कौर ने गाया है. इस गाने को शीमारू पंजाब के बैनर तले रिलीज़ किया गया था. यह गाना पंजाब में लोहड़ी पर्व पर पंजाब इलाके के एक स्थानीय नायक दुल्ला भट्टी से जोड़ कर लिखा गया है. एक किवदंती के मुताबिक लोहड़ी के उत्सव की शुरुआत दुल्ला भट्टी की कहानी से माना जाता उसके बारे में कहा जाता है कि जब भारत में अकबर का शासन काल था तो उसे रक्षक के रूप में जाना जाता था वह लड़कियों की इज्जत को बचाया करता था I

हरभजन मान का लोहड़ी गानाअसा नु मान वतन दा

पंजाबी गायक हरभजन मान का गाया हुआ गाना “असा नु मान वतन दा” को खासतौर पर लोहड़ी के मौके के लिए ही बनाया गया है. जिसे टी सीरीज कंपनी के द्वारा लांच किया गया है इस गाने की म्यूजिक धमाकेदार होने के साथ ही दिल को छूने वाला भी है. लोहड़ी के पर्व इस गाने को लोगों के द्वारा बजाकर लोहड़ी के पर्व को काफी  धूमधाम के साथ मनाया जाता है I

बल्ले बल्ले लोहड़ी पंजाबी गाना (BALLE BALLE LOHRI PUNJABI SONG)

गाने को टिप्स ने रिलीज़ किया था. हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि लोहड़ी त्यौहार जिस घर में नया शादीशुदा का जोड़ा हो या जिस घर में बच्चे का जन्म हुआ हो, वहां यह विशेष अंदाज में मनाया जाता है. जिमी शेरगिल और नीरू बाजवा पर फिल्माया गया गाना “बल्ले-बल्ले” भी आपकी लोहड़ी पार्टी के मजे को दोगुना कर देगा, विशेष रूप से नयी नवेली शादी वाले परिवार में. इस गाने को लोगों के द्वारा अधिक बजाया जाता है I 

बल्ले बल्ले बाई वीर घर पुत्त जमेया

यह लोहड़ी विशेष गाना उन परिवारों पर फिट बैठता है, जिस घर में बच्चे का जन्म हुआ हो. “बल्ले बल्ले बाई वीर घर पुत्त जमेया” पंजाबी भाषा में लिखा गया है. जिसे आवाज दिया है मशहूर पंजाबी गायिका राज घूमन ने. यह गाना पूरे परिवार, दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ लोहड़ी का जश्न मनाने के लिए बहुत ही शानदार है. लोहड़ी अपने से बड़ों से आशीर्वाद और अपने सगे-सम्बन्धियों के प्रति प्यार दर्शाने का त्यौहार है. इस गाने के lyrics घर में बच्चों के प्रति बड़ों के प्यार को दर्शाते हैं..!!

लोहड़ी गाने के बोल | Lohri Song Lyrics

सुंदर मुंदरिये हो

तेरा कौन विचारा हो !

दुल्ला भट्टी वाला हो !

धी व्याही हो !

सेर शक्कर पाई हो !

कुड़ी दे जेबे पाई

कुड़ी दा लाल पटाका हो !

कुड़ी दा सालू पाटा हो !

सालू कौन समेटे हो !

चाचे चूरी कुट्टी हो !

ज़मिदारां लुट्टी हो !

ज़मींदार सदाए हो !

गिन-गिन पोले लाए हो !

इक पोला रह गया !

सिपाही फड के लै गया !

सिपाही ने मारी ईट

भावें रो भावें पिट

सानू दे दे लोहड़ी

तुहाडी बनी रवे जोड़ी !

अस्सा मल लई तेरी ड्योडी माये नि सहनु दे लोहड़ी,

साडी आस न माये तोड़ी माये नि सहनु दे लोहड़ी,

प्यार दी साहणु गचक खवा दे,

नाम दा मीठा जीबा ते वसा दे,

पा भिखियाँ साहणु थोड़ी,

माये नि सहनु दे लोहड़ी…

भगती दी सहनु रो पिला दे,

रोम रोम साडा चमका दे,

दर्शन दी दे के रयोड़ी,

माये नि सहनु दे लोहड़ी,

मंजुला ते शर्मा तेरे न्याने,

वार एहना तो तिल मखाने,

युग युग जीवे एहना दी जोड़ी,

माये नि सहनु दे लोहड़ी,

रिश्ता साडा जीवे दाना मुन्फली,

अस्सा ज्योति दी एहो अक्चुली,

एह प्यार दी तंद न तोड़ी,

माये नि सहनु दे लोहड़

FAQ’s: Happy Lohri Songs

Q.2024 में लोहड़ी कब मनाई जाएगी?

Ans. साल 2024 मेे 13 जनवरी के दिन लोहड़ी का पर्व मनाया जाएगा।

Q.लोहड़ी क्यों मनाई जाती है?

Ans. पूर्वी सीज़न के अंत और रबी बीज की कटाई के समय को जश्न के रूप में मनाया जाता है।

Q.लोहड़ी उत्सव पर लोग क्या करते हैं?

Ans. लोहड़ी का त्यौहार बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। लोग नाचते हैं, गाने गाते हैं और परिवार के साथ जश्न मनाते हैं।

Q.लोहड़ी उत्सव पर लोग क्यों जलाते हैं?

Ans. लोहड़ी के त्यौहार में वे अपने घर के बाहर जलाते हैं। वे सर्दी के मौसम की समाप्ति के लिए गीत गाते हैं, नृत्य करते हैं और त्यौहार मनाते हैं।

Leave a Comment